• Breaking News
    Loading...

    मुख्य संपादक : सुधेन्दु ओझा

    मुख्य कार्यालय : सनातन समाज ट्रस्ट (पंजीकृत), 495/2, द्वितीय तल, गणेश नगर-2, शकरपुर, दिल्ली-110092

    क्षेत्रीय कार्यालय : सी-5, UPSIDC इंडस्ट्रियल एरिया, नैनी, इलाहाबाद-211008, (Call :- 9650799926/9868108713)

    samparkbhashabharati@gmail.com, www.sanatansamaj.in

    (सम-सामयिक विषयों की मासिक पत्रिका, RNI No.-50756)

    Wednesday, 1 March 2017

    भारत : मिसाइल डिफेंस सिस्टम की कामयाबी

    भारत : मिसाइल डिफेंस सिस्टम की कामयाबी



    भारतीय एयर डिफेंस सिस्टम को अभेद्य बनाने की दिशा में स्वदेशी इंटरसेप्टर सिस्टम के कामयाब टेस्ट को बड़ा कदम माना जा रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने इस उपलब्धि के लिए वैज्ञानिकों और देशवासियों को बधाई दी है। मोदी ने गुरुवार को ट्वीट करके लिखा, 'बलिस्टिक मिसाइल डिफेंस से जुड़ी क्षमता के कामयाब प्रदर्शन के लिए हमारे डिफेंस साइंटिस्ट्स को दिल से मुबारकबाद। इस कदम के बाद भारत उन पांच देशों के ग्रुप में शामिल हो गया है, जिनके पास यह क्षमता है। यह पूरे देश के लिए गर्व का क्षण है।' यहाँ यह उल्लेख आवश्यक है कि फिलहाल, अमेरिका, रूस, इजरायल और चीन के पास इस तरह के सिस्टम हैं।


    Hearty congratulations to our defence scientists for the successful demonstration of ballistic missile defence capability.
    — Narendra Modi (@narendramodi) March 2,

    1.
    भारत ने 1 मार्च 2017, बुधवार को अडवांस्ड एयर डिफेंस (एएडी) इंटरसेप्टर सिस्टम 'अश्विन' का कामयाब टेस्ट किया। इससे काफी कम ऊंचाई से आ रही दुश्मन की मिसाइल को भी तबाह किया जा सकता है।

    2.
    यह सिस्टम भारत के बलिस्टिक मिसाइल डिफेंस (BMD) कार्यक्रम का हिस्सा है। बीएमडी कार्यक्रम 90 के दशक के अंत में शुरू हुआ था। इसमें दो स्तरों, एंडो (वायुमंडल के अंदर) और एक्सो (वायुमंडल के बाहर) पर मिसाइलों से रक्षा सुनिश्चित की जाती है।

    3.
    एक्सो के तहत 50 से 150 किलोमीटर तक की ऊंचाई पर मिसाइल को निशाना बनाया जा सकेगा, जबकि एंडो के तहत 20 से 40 किलोमीटर की ऊंचाई पर ऐसा किया जा सकेगा।

    4.
    एक प्लान इससे भी नीचे की मिसाइलों को निशाना बनाने की है, ताकि करीब-करीब 100 फीसदी सुरक्षा हासिल की जा सके। इस प्रोग्राम के फेज 1 के तहत 2000 किलोमीटर की रेंज रखी गई है, जिसे दूसरे फेज में 5000 किलोमीटर किया जाएगा।

    5.
    इस प्रोग्राम के तहत 11 फरवरी को भी पृथ्वी डिफेंस वीइकल का टेस्ट किया गया था। इसमें एक्सो लेवल पर मिसाइल का टेस्ट किया गया था। तब 97 किलोमीटर की ऊंचाई पर टार्गेट मिसाइल को निशाना बनाया गया था।

    6.
    बुधवार को एंडो स्तर पर मिसाइल को निशाना बनाया गया। उड़ीसा के अब्दुल कलाम आइलैंड से एएडी इंटरसेप्टर मिसाइल की टेस्ट फायरिंग की गई, जिसने 15 किमी की ऊंचाई पर टार्गेट को बंगाल की खाड़ी में सफलतापूर्वक निशाना बनाया।

    7.
    ताजा टेस्ट के दौरान डिफेंस सिस्टम के मिसाइल ने उस 'दुश्मन' पृथ्वी मिसाइल को तबाह कर दिया, जिसे चांदीपुर स्थित केंद्र से दागा गया था। डिफेंस सूत्रों के मुताबिक, टेस्ट के दौरान सिस्टम ने सभी मानकों को पूरा किया।

    8.
    बीएमडी सिस्टम के तहत देश के अहम रक्षा ठिकानों और शहरों पर अर्ली वॉर्निंग एंड ट्रैकिंग सेंसर्स का जाल बिछाया जाएगा। इसके अलावा जमीन और समुद्र से छोड़े जा सकने लायक इंटरसेप्टर मिसाइल लगाए जाएंगे।

    9.
    इस सिस्टम का अब तक 10 बार परीक्षण किया जा चुका है, जिसमें तीन बार असफलता भी हाथ लगी। रक्षा जानकार मानते हैं कि इन सिस्टम्स की तैनाती में अभी भी कम से कम दो साल का वक्त लगेगा।

    10.
    अभी एक और बड़ी चुनौती बाकी है। इस सिस्टम को एक्सो और इंडो स्तर पर एक साथ अभी तक जांचा नहीं गया है। दोनों स्तर पर एक साथ टेस्ट में कामयाबी मिलने के बाद ही इस सिस्टम को पूरी तरह सफल माना जाएगा।

    संपर्क भाषा भारती परिवार की तरफ से सम्पूर्ण राष्ट्र को शुभकामनाएं!!!

    No comments:

    Post a Comment